Cricket Tips

Hindi – What is Android Root or Ios Jail Break?

How to root Android phone in Hindi | how to root ios in hindi:

हम में से बहुत से लोगों के पास Rooted Android devices होते है। हम में से बहुत से लोग जो rooted devices use करते है। उस कांसेप्ट को नही समझ पाते है क्यूँ ऐसी क्या वजह है जिस कारण हम अपने Device की लगभग सभी Securities के साथ Compromise कर रहे है और क्यों इसे Use कर रहे है।

कुछ लोग इस लिए Root करते है क्यूंकि उनके Friend ने कर रखा है। या फिर इसकी Performance में इजाफा करने के लिए। सभी के अपने अपने तर्क विचार होते है। इस Article में हम वो सब कुछ जान जाएंगे जो एक Rooted Device Owner को ओट होने चाहिए।

What is Rooting or Jail Break?

Device Rooting या Jail Breaking एक ऐसा Process होता है। जो हमे एक Android Smartphone, Tablet user को वो सभी Privilages देता है जो Device Manufacturer हमे नही देता है। Is रूटिंग प्रोसेस से हम Administrative Permissions जिसे हम SuperUser भी कहते है प्राप्त कर लेते है।

Why to Root?

अब प्रश्न उठता है कि Why क्यूं करते है हम किसी भी Device Root तो इसका सीधा सा जवाब है-

कुछ ऐसी Applications जो System में Manufacturer के द्वारा डाली जाती है उनमें बदलाव और उन Settings में बदलाव जो हुम एक Normal User के तौर पर नही कर पाते है।

इसके इलावा कुछ और भी ऐसी Applications होती है जो एक Normal Android User के तौर पर हम Use नही कर पाते है। वो Applications जिनके लिए हमे SuperUser Permissions या Administrative Permissions की जरूरत पड़ती है।

Like- Titanium backup, Flashify etc

What is Jail Break Of IOS?

Jail Break के बारे में एक बात जान लेनी जरूरी है कि यह Android Rooting से अलग Concept है। कई बार कुछ लोग इसको Mix कर देते है और एक ही चीज़ बता देते है जोकि गलत है।

Jail Breaking Apple Ios के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसकी जरूरत उन users को पड़ती है जो एप्पल की लगाई पाबंदियों को Bypass करना चाहते है।

Are There any Benifits of Rooting a Device?

अगर हम बेनिफिट्स की बात करे तो हम उसमे Jail Break के जैसे Side loading को Count नही करते है। क्यूंकि Android Os हमें PlayStore से बाहर की ऍप्लिकेशन्स को User करने की इजाज़त बिना Rooting प्रोसेस के भी देता है। उसके लिये Settings में Unkown Sources को ऑन करना होता है।

  1. System apps को Uninstall करना।
  2. System की Default सेटिंग्स में बदलाव जैसे निटिफिकेशन Lights में बदलाव, Boot Animation में बदलाव।
  3. Cpu और Gpu की क्षमता में इजाफा करना।
  4. इसके इलावा System को बदल देना शामिल है। Custom Rom

Demerits of Rooting a Device-

  1. सबसे पहले तो आप Warranty से बाहर हो जाते है। चाहे अपने Root डिवाइस को आज ही क्यूं ना खरीदा हो।
  2. आपका Phone Bricked भी हो सकता है। नाम के मुताबिक Brick भी बन सकता है भाव यह काम करना बंद भी कर सकता हैं। अगर कुछ गलत process को फॉलो करते है तो।
  3. सिक्योरिटी आप जैसे ही फ़ोन को Root करते है। आप Device की सिक्योरिटी से compromise करते है इसमें कोई शक नही है।

Our thoughts

As a Power User हम इसे इस्तेमाल करते है कुछ apps को test करने के लिए। हम इसे किसी को भी reccomend नही करते है। हा अगर आप भी कुछ नया एक्सपीरिएंस करना चाहते है तो आप इसे इस्तेमाल कर सकते है।

Show More

Related Articles

Close
Close